जाने कैसी माया है

जाने कैसी माया है
सारा जग भरमाया है

 

आंगन में हर दीपक के
तम ही तम गहराया है

 

हर कोई आतंकित है
हर कोई घबराया है

 

बच्चे ख़ुद जल जाते हैं
कैसा मौसम आया है